Connect with us

नमामि गंगे उत्तराखंड द्वारा “स्वच्छता ही सेवा” कार्यक्रम का आयोजन पेयजल मंत्री ने की शिरकत।

उत्तराखण्ड

नमामि गंगे उत्तराखंड द्वारा “स्वच्छता ही सेवा” कार्यक्रम का आयोजन पेयजल मंत्री ने की शिरकत।

पिथौरागढ़ – राजकीय इंटर कालेज कनालीछीना में राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के तत्वावधान में उत्तराखंड राज्य परियोजना प्रबंधन ग्रुप नमामि गंगे उत्तराखंड द्वारा स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का आयोजन सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय पेयजल, वर्षा जल संग्रहण, ग्रामीण निर्माण विभाग मंत्री बिशन सिंह चुफाल द्वारा किया गया।


इस अवसर पर अपने संबोधन में पेयजल मंत्री ने चुफाल ने कहा कि स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ को आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है उसी के अंतर्गत नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि जिस प्रकार नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत जिस प्रकार से गंगा को साफ एवं स्वच्छ व निर्मल बनाया जा रहा है, उसी प्रकार कुमाऊं क्षेत्र की नदियों में भी स्वच्छ्ता कार्य के अतिरिक्त नदियों में जो गंदे नाले प्रभावित किए जा रहे हैं, उनका सही ट्रीटमेंट के अतिरिक्त नदियों को साफ,स्वच्छ व निर्मल बनाए जाने के साथ ही जगह-जगह स्नान घाटों व मोक्ष्य धाम का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री जी का आभार व्यक्त करते हुए अवगत कराया कि भारत सरकार द्वारा कुमाऊं क्षेत्र के लिए 200 करोड़ की धनराशि दी गई है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के अभियान गांव-गांव तक चलाए जाएंगे, और अधिक से अधिक लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?


इस अवसर पर मंत्री द्वारा गंगा एवं इसकी सहायक नदियों के संरक्षण के सन्देश को प्रचारित किये जाने के उद्देश्य को लेकर आयोजित की जा रही गंगा रन को भी हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। 6 किमी की गंगा रन में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहे प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया।
कार्यक्रम शुभारंभ से पूर्व माननीय मंत्री मा0 मंत्री, पेयजल, वर्षा जल संग्रहण, ग्रामीण निर्माण एवं जनगणना, उत्तराखण्ड सरकार श्री विशन सिंह चुफाल जी की अगुवाई में कनालीछीना क्षेत्र में स्वच्छता अभियान भी चलाया गया जिसमें स्थानीय लोगों द्वारा प्रतिभाग कर सफाई अभियान चलाया गया।
गंगा एवं इसकी सहायक नदियों की स्वच्छता एवं संरक्षण के सन्देश एवं जल संरक्षण के सन्देश को व्यापक रूप से जनमानस में प्रचारित किये जाने के उद्देश्य से आयोजित किये जा रहे कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर मंत्रोच्चारण के साथ शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर उपस्थित जनता को माननीय मंत्री द्वारा गंगा स्वच्छता की शपथ भी दिलाई गई।इसके उपरान्त शहीदों के परिजन एवं स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य कर रहे विभिन्न समूहों को भी सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, नुक्कड़ एवं लोकगीतों के माध्यम से स्वच्छता के सन्देश को भी प्रदर्शित किया गया तथा गंगा एवं इसकी सहायक नदियों को स्वच्छ रखने का आह्वान किया गया। कार्यक्रम में पर्यावरण संरक्षण एवं प्लास्टिक उन्मूलन के उद्देश्य से कपड़े के थैलों के साथ ही फलदार पौधा का भी वितरण किया गया। कार्यक्रम के दौरान विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण भी किया गया।
इस अवसर पर क्षेत्र प्रमुख सुनीता कन्याल, पूर्व अध्यक्ष जिला पंचायत वीरेंद्र बोहरा, तहसीलदार कनालीछीना, राज्य परियोजना प्रबन्धन, नमामि गंगे पूरन चन्द कापड़ी, अधिशासी अभियंता जल संस्थान अवधेश कुमार,कार्यक्रम के नोडल अधिकारी सहायक अभियंता जल संस्थान के एस मेहता, महिमन सिंह कन्याल,ग्राम प्रधान मनोज सिरोला , ग्राम संगठन अध्यक्ष रविन्द्र कुमार , पूर्व मण्डल अध्यक्ष रमेश पाण्डे , ग्राम प्रधान कण्डाली ममता देवी , ज्येष्ठ प्रमुख कनालीछीना हेमलता कठावत् , जिला पंचायत सदस्य दीपिका भट्ट ,विनीता पाल एवं सावित्री ज्याला समेत विभिन्न जनप्रतिनिधियों के साथ ही क्षेत्रीय जनता व विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
इस अवसर पर विभिन्न विभागों के द्वारा स्टाल लगाकर सरकारी योजनाओं की जानकारी व लाभ स्थानीय जनता को प्रदान किया गया।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page