Connect with us

एलएंडटी ने उत्तराखंड में सिंगोली-भटवारी स्थित 99 मेगावाट के पनबिजली संयंत्र में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेची।

उत्तराखण्ड

एलएंडटी ने उत्तराखंड में सिंगोली-भटवारी स्थित 99 मेगावाट के पनबिजली संयंत्र में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेची।

नयी दिल्ली– (भाषा) लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) ने मंगलवार को कहा कि उसने उत्तराखंड में सिंगोली-भटवारी स्थित 99 मेगावाट के पनबिजली संयंत्र में अपनी पूरी हिस्सेदारी रिन्यू पावर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड को बेच दी है।

एलएंडटी को इस विनिवेश से 1,001.50 करोड़ रुपये मिले हैं। प्रतिभूति खरीद समझौते () के तहत शर्तों के पूरा होने के बाद हिस्सेदारी बिक्री की प्रक्रिया पूरी हुई।

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

कंपनी के एक बयान में कहा गया, ‘‘एलएंडटी ने उत्तराखंड के सिंगोली-भटवारी में 3 गुणा 33 मेगावाट (कुल 99 मेगावाट) पनबिजली संयंत्र में अपनी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी का विनिवेश किया है।’’

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

ईपीसी परियोजना की शर्तों के अनुसार एलएंडटी को 30 अगस्त 2021 को रिन्यू पावर से विनिवेश आय के रूप में 1,001.50 करोड़ रुपये मिले।

कंपनी ने बताया कि वह अपने पोर्टफोलियो में सभी गैर-प्रमुख संपत्तियों का विनिवेश कर रही है और यह सौदा इस रणनीति के अनुरूप है।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

एलएंडटी के पूर्णकालिक निदेशक और वरिष्ठ कार्यकारी उपाध्यक्ष (विकास परियोजनाएं) डी के सेन ने कहा कि कंपनी ने पहले ही नाभा पावर, एलएंडटी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्रोजेक्ट्स, उसकी सहायक कंपनियों और हैदराबाद मेट्रो को विनिवेश के लिए चिन्हित किया है।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page