Connect with us

टनकपुर-घाट राष्ट्रीय राजमार्ग पर रात में वाहनों की आवाजाही पर प्रशासन ने लगाई रोक

उत्तराखण्ड

टनकपुर-घाट राष्ट्रीय राजमार्ग पर रात में वाहनों की आवाजाही पर प्रशासन ने लगाई रोक

टनकपुर– घाट ऑलवेदर रोड पर रात के यातायात पर जिला प्रशासन ने 75 दिन बाद रोक लगा दी है। प्रशासन ने टनकपुर से घाट के बीच शाम 6 से सुबह 6 बजे तक यातायात पर रोक दिया है। आपातकाल में वाहनों को जाने दिया जाएगा।

मानसून सीजन में भूस्खलन के खतरे को देखते हुए प्रशासन से तय समय पर ही हाईवे खुलेगा। दरअसल बीती 18 मार्च को मुख्यमंत्री के कहने पर एनएच को 24 घंटे के लिए खोला गया था। इससे पहाड़ समेत मैदान के लोगों को राहत मिली थी। चम्पावत से टनकपुर के बीच 75 किमी के दायरे में धौन, स्वाला, चल्थी, सिन्याड़ी के पास मानसून में भूस्खलन का खतरा रहता है। स्वाला, धौन में इस बार भी पहाड़ी से भूस्खलन हो रहा है। पहाड़ी के रख रखाव के लिए एनएच ने बीते दिनों भू-गमय सर्वे किया था। बरसात में इस रूट पर वाहनों का रात में संचालन खतरे से खाली नहीं है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

इन रूट पर शाम 6 से सुबह 6 ऑलवेदर रोड पर रात के यातायात पर जिला प्रशासन ने 75 दिन बाद रोक लगा दी है। प्रशासन ने टनकपुर से घाट के बीच शाम 6 से सुबह 6 बजे तक यातायात पर रोक दिया है। आपातकाल में वाहनों को जाने दिया जाएगा। चम्पावत के जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा है कि सुरक्षा की दृष्टि से मानसून सीजन के समय में यातायात पर अग्रिम आदेश तक रोक लगाई है। इसे तत्काल प्रभाव से लागू किया जा रहा है। यातायात में लापरवाही पर संबंधित थाना जवाबदेह होगा।

यह भी पढ़ें -  कैबिनेट द्वारा लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page