Connect with us

84 आरक्षी बने उत्तराखंड पुलिस का हिस्सा, पुलिस लाईन में हुआ रिक्रूट आरक्षियों का दीक्षान्त परेड समारोह

उत्तराखण्ड

84 आरक्षी बने उत्तराखंड पुलिस का हिस्सा, पुलिस लाईन में हुआ रिक्रूट आरक्षियों का दीक्षान्त परेड समारोह

पिथौरागढ़पुलिस लाईन पिथौरागढ़ के परेड ग्राउण्ड में रिक्रूट आरक्षियों के दीक्षान्त परेड समारोह का आयोजन किया गया जिसमें 84 रिक्रूट आरक्षी बने उत्तराखण्ड पुलिस का हिस्सा। पुलिस उपमहानिरीक्षक, कुमाऊं रेंज, द्वारा समस्त रिक्रूट आरक्षियों को उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी गई। इस दौरान रिक्रूट आरक्षी प्रमोद सिंह को चुना गया सर्वांग सर्वोत्तम प्रशिक्षु।

आर.टी.सी. पुलिस लाईन पिथौरागढ़ आज में 84 रिक्रूट आरक्षियों द्वारा 09 माह के गहन प्रशिक्षण के पश्चात अंतिम परीक्षा में उत्तीर्ण होने के उपरान्त आज पुलिस लाईन के परेड ग्राउण्ड में भव्य दीक्षान्त परेड का आयोजन किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक पिथौरागढ़, श्रीमती रेखा यादव* द्वारा परेड के मुख्य अतिथि पुलिस उपमहानिरीक्षक, कुमायूँ परिक्षेत्र नैनीताल, योगेन्द्र सिंह रावत का स्वागत किया गया। मुख्य अतिथि द्वारा परेड की सलामी लेने के पश्चात परेड का निरीक्षण किया गया। परेड द्वारा बैण्ड की मधुर धुन पर, मन्च से गुजरते हुए शानदार प्रदर्शन किया गया, जिस दौरान परेड का प्रदर्शन व उत्साह देखकर आम जनता की तालियों की गड़गड़ाहट से मैदान गूँज उठा। मुख्य अतिथि महोदय द्वारा परेड को कसम दिलाई गयी। परेड के धीरे चाल से मंच से गुजरने के बाद अन्तिम पग पार करने के पश्चात 84 आरक्षी उत्तराखण्ड पुलिस में पी0ए0सी0 का हिस्सा बन गये। एस0पी0 द्वारा सभी रिक्रूट आरक्षियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी गयी।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।


प्रशिक्षण में पुलिस उपाधीक्षक पिथौरागढ़, परवेज अली ,प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाईन नरेश चन्द्र जखमोला के नेतृत्व में कुल 04 उपनिरीक्षक अध्यापक, 01 मेजर, 05 ड्रिल प्रशिक्षक, 03 पी0टी0आई0 द्वारा रिक्रूटों को प्रशिक्षण दिया गया।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

प्रशिक्षणाधीन अवधि में आर.टी.सी. कार्यालय में नियुक्त हे0 का0 भुवन चन्द्र, म0 का0 रेखा सम्बल, का0 कुलदीप प्रसाद का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

इस दौरान पुरूस्कार विजेताओं को सम्मानित भी किया गया। अन्तः कक्ष में रिक्रूट आरक्षी प्रमोद सिंह (04 विषयों में) , रिक्रूट आरक्षी विरेन्द्र सिंह (01 विषय में) बाह्यकक्ष में रिक्रूट आरक्षी रोहित कुमार, रिक्रूट आरक्षी धीरज मेहरा, रिक्रूट आरक्षी अनिल कुमार चन्द, रिक्रूट आरक्षी पवन कुमार कश्यप, रिक्रूट आरक्षी धीरज पाण्डेय, ललित मोहन बिष्ट, रिक्रूट आरक्षी आशुतोष कुमार अर्या। सर्वोत्तम पी0टी0आई0 हे0 का0 बलवन्त सिंह कैड़ा।

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?


सर्वोत्तम आई0टी0आई0 हे0 का0 नरेश सिंह बोरा।हवलदार मेजर आर0टी0सी0 हे0 का0 जोत सिंह रमोला। सूबेदार मेजर आर0टी0सी0 उ0नि0 स0पु0 ऊषा देव। सर्वोत्तम प्रशिक्षक अन्तः कक्ष- उ0नि0 अध्यापक मोहन सिंह सौन।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page