Connect with us

ओडिशा ट्रेन दुर्घटना में 233 यात्रियों की मौत, 900 से ज्यादा लोग हुए घायल

देश-विदेश

ओडिशा ट्रेन दुर्घटना में 233 यात्रियों की मौत, 900 से ज्यादा लोग हुए घायल

ओडिशा ट्रेन हादसे को कई घंटे बीत जाने के बाद अब भी बचाव और राहत कार्य चलाया जा रहा है. घायल यात्रियों को अलग-अलग अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है. पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने हादसे पर दुख जताया है.

ओडिशा के बालासोर जिले में बहानागा रेलवे स्टेशन के पास शुक्रवार की शाम को यात्री ट्रेन कोरोमंडल एक्सप्रेस की बोगियां पटरी से उतर गईं. इसी बीच उसके पास की पटरी से गुजरते हुए यशवंतपुर से हावड़ा जा रही एक्सप्रेस ट्रेन उतरी हुई बोगियों से बाजू से टकरा गई. ओडिशा के मुख्‍य सचिव पीके जेना के मुताबिक, इस हादसे में अब तक 233 लोगों की मौत हो गई है और 900 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ट्रेन हादसे के बाद राज्य दिवस समारोह रद्द करते हुए एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है. घायल लोगों को अस्पतालों में ले जाया गया है. राहत और बचाव दल दुर्घटनास्थल पर मौजूद हैं. घायल कुछ यात्रियों को बालासोर मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया है. मेडिकल कॉलेज और बालासोर के आसपास के सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है.

अपने एक ट्वीट में पीके जेना ने लिखा, “ट्रेन दुर्घटना में मरने वालों की संख्या बढ़ रही है. दुर्घटनास्थल से @SRC_Odisha की ताजा रिपोर्ट में यह आंकड़ा 207 बताया गया है. घायलों की संख्या लगभग 900 हो चुकी है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

8- 10 बोगी पटरी से उतरी हैं. यह किसी ट्रेन से टक्कर नहीं है, मालगाड़ी से भी कोई टक्कर नहीं है. जब ट्रेन डिरेल हुई तब बगल की पटरी से यशवंतपुर से हावड़ा ट्रेन गुजर रही थी. उधर पटरी से उतरकर ट्रेन की बोगी आ गई और फिर ये नुकसान पहुंचा है.”

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ओडिशा की ट्रेन दुर्घटना को लेकर मुआवजे की घोषणा की है. वैष्णन ने ट्वीट किया है – ओडिशा में हुए इस दुर्भाग्यपूर्ण ट्रेन हादसे में मरने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को 10 लाख रुपये, गंभीर घायलों को दो लाख रुपये और मामूली घायलों को 50,000 रुपये की मदद दी जाएगी.

ओडिशा के मुख्य सचिव प्रदीप जेना ने कहा है कि, ”बालासोर के डीएम, आईजी और एसपी दुर्घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. 15 से ज्यादा फायर सर्विस यूनिटों को रवाना किया गया है. करीब 60 एंबुलेंस भी भेजी गई हैं. बालासोर और कटक के दो मेडिकल कॉलेज घायलों के इलाज के लिए पूरी तरह तैयार हैं. डीजी फायर सर्विसेज को मौके पर पहुंचने का आदेश दिया गया है.” 

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

ट्रेन दुर्घटना के बाद राहत और बचाव अभियान जारी है. विशेष राहत आयुक्त कार्यालय के अनुसार बालासोर के कलेक्टर को सभी जरूरी व्यवस्थाएं करने के लिए मौके पर पहुंचने और राज्य स्तर से किसी भी अतिरिक्त मदद की आवश्यकता होने पर एसआरसी को सूचित करने का निर्देश दिया गया है

Continue Reading

More in देश-विदेश

Trending News

Follow Facebook Page