Connect with us

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में प्री पीएचडी कोर्सवर्क के लिए काउन्सिलिंग की प्रक्रिया का शिड्यूल जारी

उत्तराखण्ड

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में प्री पीएचडी कोर्सवर्क के लिए काउन्सिलिंग की प्रक्रिया का शिड्यूल जारी

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में प्री पीएच. डी कोर्सवर्क के लिए काउन्सिलिंग की प्रक्रिया पूर्ण होनी है जिसकी काउन्सिलिंग के लिए विश्वविधालय द्वारा शिड्यूल जारी कर दिया है। ये प्रकिया 17 मई से शुरू होने जा रही है।

काउन्सिलिंग की विषयवार तिथि

1.(i) दिनांक 17.05.2023 विधि, वाणिज्य, शिक्षा (ii) दिनांक 18.05.2023 हिंदी, संस्कृत राजनीतिशास्त्र, अर्थशास्त्र, इतिहास, 

गृहविज्ञान (iii) दिनांक: 19.05.2023 अंग्रेजी, समाजशास्त्र, मनोविज्ञान, भूगोल, संगीत 

(iv) दिनांक: 20.05.2022 भौतिकी, रसायन विज्ञान, जंतु विज्ञान वानिकी विज्ञान 

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

(v) दिनांक 22.05.2022 -गणित सैन्य विज्ञान, सांख्यिकी, वनस्पति विज्ञान, भूगर्भ विज्ञान 

2. प्रथम काउंसिलिंग में केवल चयनित (SELECTED) अभ्यर्थी ही प्रतिभाग करेंगे प्रथम काउंसिलिंग के उपरांत 

रिक्त सीटों के आधार पर ही संबंधित विषयों में द्वितीय काउन्सिलिंग कराई जाएगी. जिसकी सूचना विश्वविद्यालय द्वारा निर्गत की जाएगी।

3. विभिन्न विषयों में काउन्सिलिंग पूर्वाहन 10:30 बजे से अल्मोडा परिसर के मनोविज्ञान विभाग में सम्पन्न होगी। काउन्सिलिंग से पूर्व विद्यार्थी मनोविज्ञान विभाग में स्थापित किए गए शुल्क काउंटर में पूर्वाहन 10:00 बजे से शुल्क 

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

(रु. 1500/-) जमा करेंगे। 

4. काउन्सिलिंग के समय जे.आर.एफ. उत्तीर्ण विद्यार्थियों को अपने काउन्सिलिंग कमेटी के समक्ष जे. आर.एफ. उत्तीर्ण होने का प्रमाण पत्र एवं समस्त प्रमाण पत्रों को अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा एवं स्व-प्रमाणित प्रतियों को विषय संयोजकों द्वारा सुरक्षित रखा जाएगा।

5. काउन्सिलिंग में प्रतिभाग करने वाले पूर्णकालिक प्राध्यापकों को काउन्सिलिंग के समय अपने स्थायी प्राध्यापक होने का प्रमाण पत्र एवं कोर्सवर्क हेतु अनापत्ति प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा। जिनको विषय संयोजक अपने पास सुरक्षित रखेंगे। 

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

6. काउन्सिलिंग में प्रतिभाग हेतु समस्त मूल शैक्षिक प्रमाण पत्र एवं शैक्षिक प्रमाण पत्रों की छायाप्रतियों को अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा एवं स्व-प्रमाणित प्रतियों को विषय संयोजकों द्वारा सुरक्षित रखा जाएगा। साथ ही अद्यतन परीक्षा परिणाम (Updated Result) विश्वविद्यालय की वेबसाईट www.ssju.ac.in पर जारी किया जा चुका है।  

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page