Connect with us

दो लाख करोड़ की लागत से उत्तराखंड में होगा सड़क निर्माण-नितिन गडकरी

उत्तराखण्ड

दो लाख करोड़ की लागत से उत्तराखंड में होगा सड़क निर्माण-नितिन गडकरी

खटीमा– केन्द्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि वर्ष 2024 तक वह उत्तराखंड में दो लाख करोड़ की सड़क निर्माण की परियोजनाओं को पूरा कर लेंगे। इसमें टनकपुर से लिपूलेख तक सड़क निर्माण का कार्य भी शामिल है। नितिन गडकरी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की विधानसभा क्षेत्र खटीमा में भारतीय जनता पार्टी की विजय संकल्प रैली के समापन के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति जॉन केनेडी ने कहा था कि अमेरिका सम्पन्न देश है इसलिए अमेरिका की सड़कें अच्छी नहीं हैं। उन्होंने कहा था कि अच्छी सड़कों के चलते अमेरिका धनी व सम्पन्न बना है। उन्होंने आगे कहा कि अच्छी सड़कों के निर्माण से उत्तराखंड भी सम्पन्न व समृद्ध राज्य बनेगा और यहां के युवाओं को रोजगार मिल सकेगा।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि जब वह राजमार्ग मंत्री बने थे तब उन्होंने दो लाख करोड़ रुपये की लागत से उत्तराखंड की तस्वीर बदलने का लक्ष्य रखा था और वह 2024 तक इस लक्ष्य को हर हाल में पूरा कर लेंगे। उन्होंने कहा कि 2014 से 2021 तक उन्होंने प्रदेश में 2100 किमी राजमार्ग का निर्माण किया है। नितिन गडकरी ने कहा कि वर्ष 2022 में वह 128 किलोमीटर नए राजमार्ग का निर्माण कर लेंगे। वहीं इसी दौरान वह 1353 किमी की नई सड़कों के निर्माण के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) भी तैयार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह वर्ष 2025 तक प्रदेश में 2500 किलोमीटर नई सड़क का निर्माण कार्य पूरा कर दो लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य को हासिल कर लेंगे।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

नितिन गडकरी ने कहा कि केन्द्र सरकार कैलाश मानसरोवर जाने के लिए टनकपुर से लिपूलेख तक 5000 करोड़ की लागत से 366 किलोमीटर सड़क का निर्माण कर रही है जो कि एक साल के अंदर पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि टनकपुर से पिथौरागढ़ तक काम पूरा हो गया है और पिथौरागढ़ के घटियाबगड़ से लिपूलेख तक अगले साल सड़क निर्माण का कार्य पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अब कैलाश मानसरोवर जाने के लिए चीन, नेपाल व सक्किमि जाने की जरूरत नहीं होगी। श्रद्धालु अब टनकपुर के रास्ते सीधे कैलाश मानसरोवर जा सकेंगे। पिथौरागढ़ से लिपूलेख तक 3100 करोड़ की लागत से 204 किमी सड़क का निर्माण सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) की ओर से किया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

केन्द्रीय मंत्री ने आगे कहा कि आने वाले समय में दिल्ली से देहरादून व दिल्ली से हरिद्वार की दूरी मात्र दो घंटे में पूरी होगी। इसके लिए वह देहरादून से दिल्ली के बीच 1200 करोड़ की लागत से 228 किलोमीटर का नया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कर रहे हैं। आने वाले दो साल में इसे भी पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि अब मोदी सरकार में दिल्ली से जयपुर की यात्रा भी दो घंटे, दिल्ली से अमृतसर छह घंटे, दिल्ली से श्रीनगर आठ घंटे व दिल्ली से मुम्बई की यात्रा 12 घंटे में पूरी होगी।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page