Connect with us

1200 से अधिक मतदाता होने पर बनेगा नया मतदान स्थल।

उत्तराखण्ड

1200 से अधिक मतदाता होने पर बनेगा नया मतदान स्थल।

पिथौरागढ़- भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जनपद पिथौरागढ़ की चारों विधानसभा अंतर्गत मतदेय स्थलों के निर्धारण के संबंध में गुरुवार को जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ आशीष चौहान द्वारा जिला कार्यालय सभागार में मान्यताप्राप्त राजनैनिक दलों के साथ बैठक कर जिले में मतदेय स्थलों के निर्धारण एवं इस सम्बंध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के बारे में जानकारी दी गई। 

बैठक में जिलाधिकारी ने जिले की चारों विधानसभाओं में कुल 586 मतदेय स्थल है, 7 अतिरिक्त मतदेय स्थलों के प्रस्ताव जो संबंधित क्षेत्र के उपजिलाधिकारियों से प्राप्त हुए हैं, उन्हें निर्वाचन आयोग को भेजा जा रहा है, जिसमें 3 मतदेय स्थल राजकीय प्राथमिक विद्यालय जिप्ति, राजकीय प्राथमिक विद्यालय जमकू व राजकीय प्राथमिक विद्यालय रोड़ा धारचूला विधानसभा के है तथा 4 मतदेय स्थल विधानसभा क्षेत्र डीडीहाट के हैं, जिसमें राजकीय प्राथमिक विद्यालय चुपडाखेत,स्यालवे,लीमाटोड़ा व बोराबुगा हैं, जिन्हें मतदेय स्थल बनाए जाने हेतु भारत निर्वाचन आयोग को प्रस्ताव भेजा जाएगा।
जिलाधिकारी डॉ चौहान ने उपस्थित राजनैनिक दलों के प्रतिनिधियों से अपील की कि अगर इस प्रकार के कोई मतदेय स्थल जिनमें मतदाताओं को 2 किलोमीटर से अधिक पैदल चलना पड़ता है तो इन क्षेत्रों में मतदेय स्थल बनाए जाने हेतु वह भी प्रस्ताव संबंधित क्षेत्र के उपजिलाधिकारी को शीघ्रता से उपलब्ध करा दें,ताकि उन प्रस्तावों को भी इसमें शामिल किया जा सके।
जिलाधिकारी ने बैठक में यह भी बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार एक मतदेय स्थल में 1200 से अधिक मतदाता नहीं होने है, पिथौरागढ़ जिले में ऐसे कुल 8 मतदेय स्थल जिसमें 7 पिथौरागढ़ विधानसभा क्षेत्र में तथा 1 गंगोलीहाट विधानसभा क्षेत्र में है इन सभी में उसी भवन में एक अतिरिक्त मतदेय कक्ष बनाए जाने का भी प्रस्ताव निर्वाचन आयोग को भेजा जा रहा है।
बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी 15 सितंबर तक बीएलओ द्वारा घर घर जाकर मतदाता सूचियों का जो सत्यापन, जांच आदि का कार्य किया जा रहा है, वह यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक बीएलओ घर घर जाकर सत्यापन का कार्य करें। वह भी स्वयं क्षेत्र में जाकर निरीक्षण करें।

बैठक में अपर जिलाधिकारी/उप जिला निर्वाचन अधिकारी फिंचा राम चौहान, संयुक्त मजिस्ट्रेट नंदन कुमार,सहायक निर्वाचन अधिकारी बी एल राणा,तहसीलदार पंकज चंदोला,वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एचडी पांडेय, नीरज साह समेत भाजपा से सुभाष जोशी,कांग्रेस से त्रिलोक महर, बसपा से केशव कार्की तथा वर्चुअल के माध्यम से उपजिलाधिकारी डीडीहाट के एन गोस्वामी, गंगोलीहाट बीएल फोनिया,धारचूला अनिल शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page