Connect with us

भारत-चीन सीमा परआजादी अमृत उत्सव, फहराये गये 75 राष्ट्रीय ध्वज,रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट जवानों के बीच।

उत्तराखण्ड

भारत-चीन सीमा परआजादी अमृत उत्सव, फहराये गये 75 राष्ट्रीय ध्वज,रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट जवानों के बीच।

गुंजी,पिथौरागढ़– सीमांत क्षेत्र तहसील धारचूला के लगभग 11 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित स्थान गुंजी में प्रशासन द्वारा आयोजित तीन दिवशीय शिवोत्सव के समापन समारोह पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित केद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट द्वारा प्रतिभाग किया गया। अपने भ्रमण के दौरान माननीय रक्षा राज्य मंत्री द्वारा भारत चीन सीमा पर कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग का निरीक्षण भी किया गया।उन्होंने बीआरओ द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की गई । उन्होंने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर गुंजी में आयोजित सरदार वल्लभ भाई पटेल जयंती पर राष्ट्रीय एकता दिवस के कार्यक्रम पर भी प्रतिभाग कर आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75 राष्ट्रीय ध्वज भी फहराए गए।


पूर्वाह्न 9:45 बजे सेना के हैलीकॉप्टर से गुंजी पंहुचने पर क्षेत्रीय विधायक, जिलाधिकारी समेत सेना,बीआरओ तथा रंग कल्याण संस्था के सदस्यों द्वारा उनका स्वागत किया गया। इसके उपरांत रक्षा राज्य मंत्री बीआरओ कैम्प में पंहुचे जहॉ पर कर्नल एन के शर्मा द्वारा सड़क निर्माण की जानकारी दी गई। गुंजी के बीआरओ कैम्प में रक्षा राज्य मंत्री कहा कि अब वह दिन दूर नहीं जब लोग कार से कैलाश मानसरोवर यात्रा कर सकेंगे। क्योंकि सीमा सड़क संगठन द्वारा तेज गति से कैलाश मानसरोवर मार्ग में सड़क के निर्माण कार्य किया जा रहा है। उन्होंने आपदा प्रभावित क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के बारे में भी जानकारी ली गई।


केद्रीय मंत्री श्री भट्ट ने गुंजी में शिवोत्सव कार्यक्रम में प्रतिभाग किया गया। इस अवसर पर माननीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने सर्व प्रथम रंग बोली में जम्मा मी बुदला(सभी लोग ठीक हो) द्वारा संबोधन प्रारम्भ किया गया। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा इस नई पहल शिवोत्सव के आयोजन पर जिलाधिकारी की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस आयोजन से निश्चित रूप से यह साबित हो गया कि यह देश का अंतिम नहीं पहला गांव है। इस आयोजन से यहां के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा,और साथ ही आदि कैलाश व ओम पर्वत के यात्रियों के लिए मार्ग खुल जाएगा। उन्होंने कहा कि देश के लेह लद्दाक के ओम लिंगला(19300 फ़ीट) तक विश्व की सबसे ऊंचे स्थान तक बीआरओ द्वारा सड़क का निर्माण किया गया है।उन्होंने कहा कि लिपुलेख से पहले तक बीआरओ द्वारा सड़क मार्ग का निर्माण कर लिया गया है,शीघ्र ही इस मार्ग में डामरीकरण भी कर लिया जाएगा, जिस हेतु 60 करोड़ की धनराशि स्वीकृत कर ली गई है। उन्होंने कहा कि जिस तर्ज पर अमरनाथ की यात्रा कराई जाती है, उसी प्रकार से ही आदि कैलाश तथा ओम पर्वत यात्रा मार्ग सुविधाएं बढ़ाते हुए यात्रा कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि दारमा,व्यास,चौदास, जौहार घाटी क्षेत्र में माइग्रेशन के दौरान अतिरिक्त खाद्यान्न का कोटा बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीमांत के वासी देश के प्रहरी के रूप में कार्य कर रहे हैं, इन क्षेत्रों आवश्यक सुख सुविधाएं बढ़ाने के साथ रोजगार के क्षेत्र में कार्य कराया जा रहा है।उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र भगवान शिव की तथा वेद व्यास ऋषी की तप स्थली है, शिवोत्सव एक बेहतरीन आयाम छोड़ गया है,यह एक सरकारी मेला हो इस हेतु उन्होंने जिलाधिकारी को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

उन्होंने क्षेत्र में संचार सुविधाओं को बढ़ाए जाने हेतु आवश्यकीय कार्यवाही किए जाने की बात करते हुए कहा कि इस संबंध में तेजी से कार्य किया जा रहा है।क्षेत्र में विद्युत लाइन बिछाए जाने हेतु कार्यवाही गतिमान है शीघ्र ही कार्य प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यह क्षेत्र देश में बॉर्डर टूरिज्म के रूप में सबसे बेहतर डेस्टिनेशन होगा।उन्होंने कहा कि इस सड़क के निर्माण से विश्व प्रशिद्ध कैलाश मानसरोवर यात्रा भी सुगम हो गई है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।


इस अवसर पर सांसद अजय टमटा ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पर अमृत महोत्सव का आयोजन तथा शिवोत्सव का आयोजन एक बेहतरीन प्रयास है उन्होंने इस कार्य हेतु जिलाधिकारी की प्रशंसा की। इस अवसर पर विधायक धारचूला हरीश धामी ने कहा कि क्षेत्र में संचार सुविधा होनी महत्वपूर्ण है, इस हेतु उन्होंने शीघ्र ही संचार सुविधा तथा जौलजीवी से तवाघाट लिपुलेख व मुनस्यारी सड़क में सुधारीकरण कार्य में तेजी लाने की मांग की।


इससे पूर्व राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर माननीय रक्षा राज्य मंत्री द्वारा गुंजी के मनेला में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75 तिरंगा के साथ राष्ट्रगान गाया गया तथा राष्ट्रीय एकता की सपथ दिलाई गई। जिसमें 75 राष्ट्रीय ध्वज तथा 75 जवान के अतिरिक्त सेना,एसएसबी तथा आईटीबीपी के जवानों, अधिकारियों आदि के द्वारा प्रतिभाग किया गया। इस अवसर पर अपने संबोधन में माननीय रक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि देश के प्रथक ग्रह मंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल जी के जन्मदिन के अवसर पर यह दिन राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है, सरदार पटेल द्वारा एकता का संदेश देते हुए देश की अनेक रियासतों को एकजुट कर देश के बटवारे से बचाते हुए एक किया जो एकता का एक प्रतीक है। इस दौरान उन्होंने जवानों से भी वार्ता का उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि 12 हजार फीट से अधिक ऊँचाई पर बर्फ में रहकर यह वीर जवान देश की रक्षा में अपनी सेवा दे रहे हैं इन सभी को सलाम है।


इस दौरान उन्होंने शिवोत्सव कार्यक्रम एवं राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर आयोजित साइकिल रैली को हरी झड़ी दिखाकर ओम पर्वत के लिए रवाना किया गया। इसी बीच बॉलीबॉल टूर्नामेंट में उत्तराखंड पुलिस एवं ग्राम सभा कुटी के मध्य फाइनल मैच खेला गया जिसमें उत्तराखंड पुलिस विजयी रही।
अपने एक दिवशीय भ्रमण पर पंहुचे रक्षा राज्य मंत्री द्वारा गुंजी से नाबि गांव तक सड़क का बीआरओ के अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण किया गया, इसके उपरांत गुंजी गांव का पैदल भ्रमण कर ग्रामीणों से मुलाकात कर उनके हाल जाने उन्होंने ग्राम भ्रमण के दौरान हाथ से चलने वाली चक्की में स्थानीय राजमा की पिसाई भी की ग्रामीणों द्वारा उन्हें गांव की समस्याएं से भी अवगत कराते हुए उन्हें राजमा तथा जम्बू भी भेंट किया गया। उन्होंने गांव में नाली निर्माण व आंतरिक मार्ग निर्माण हेतु जिलाधिकारी को आदेश दिए।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।


शिवोत्सव कार्यक्रम के दौरान रंग कल्याण संस्था की ओर से माननीय रक्षा मंत्री एवं अन्य अतिथियों को पगड़ी पहनाकर प्रतीक चिह्न भेंट कर स्वागत किया गया।


शिवोत्सव के समापन अवसर पर प्रातः काल में कुटी-यांगती के घाट में विधायक धारचूला, जिलाधिकारी व रं कल्याण संस्था के प्रतिनिधियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर गंगा आरती की गई। समापन अवसर पर अनेक रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए। शनिवार देर सायं गोविन्द दिगारी, बीके सामंत,प्रकाश रावत,जितेंद्र तोमकयाल, इंदर आर्या, फ़र्स्वावन,भगवती दनपुरिया,नारायण सोराड़ी द्वारा विभिन्न लोक संस्कृति प्रस्तुत किए गए
राष्ट्रीय एकता दिवस एवं शिवोत्सव कार्यक्रम के समापन अवसर पर माननीय सांसद अजय टमटा, विधायक धारचूला हरीश धामी,आई जी इंटेलिजेंस उत्तराखंड संजय गुंज्याल, जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान, बीआरओ के कमांडर कर्नल एन के शर्मा,पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह,सीडीओ अनुराधा पाल,सेना के 18 ग्रेनेड के कर्नल जतिन गुलेरी,संयुक्त मजिस्ट्रेट नंदन कुमार,उप जिलाधिकारी धारचूला ए के शुक्ला, एस एस बी के सहायक सेनानी बी एन पांडेय ,पूर्व चैयरमैन नगर पालिका धारचूला अशोक नबियाल, भाजपा महामंत्री कृष्णा गर्बियाल,ग्राम प्रधान गुंजी सुरेश गुंज्याल, सरपंच गुंजी लक्ष्मी गुंज्याल, प्रधान नाबि सनम नबियाल, अंजू रौंकाली, राम सिंह ह्यांकी,मोहन ततवाल,द्मश्री मोहन श्री गुंज्याल,सतल सिंह गुंज्याल,उमा सनवाल गुंज्याल, दीपक रौकली,दिनेश गर्ब्याल,मदन नबियाल, समेत सेना,एसएसबी,आइटीबीपी, क्षेत्र के जनप्रतिनिधि,गणमान्य नागरिक, लोक कलाकार समेत क्षेत्रीय जनता तथा विभागों के अधिकारी, कर्मचारी आदि उपस्थित रहे।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page