Connect with us

भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा भाजपा में शामिल

उत्तराखण्ड

भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा भाजपा में शामिल

नई दिल्ली– भीमताल से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा भी भाजपा में शामिल हो गए हैं। लगातार कांग्रेस व अन्य दलों के नेताओं के बाद निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा का भाजपा में शामिल होना, बाकी दलों को बैकफुट पर धकेलने का काम जरूर करेगा। कैड़ा के भाजपा में शामिल होने से राजनीति में उथल पुथल मचनी शुरू हो गई है। आगामी विधानसभा चुनावी समीकरणों के लगातार बदलते रहने का सिलसिला शुरू हो गया है। भारतीय जनता पार्टी फ्रंट फुट पर बैटिंग कर रही है। इसी कड़ी में भीमताल विधायक भी अब सत्ताधारी पार्टी में शामिल हो गए हैं।

राम सिंह कैड़ा ने दिल्ली में भाजपा के हेडक्वार्टर में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।उत्तराखंड से भीमताल विधानसभा से निर्दलीय विधायक राम सिंह कैड़ा ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली है। दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यालय में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी और उत्तराखंड प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष मदन कौशिक ने विधायक राम सिंह खेड़ा को भाजपा की सदस्यता दिलाई।छात्र राजनीति से निकले राम सिंह कैड़ा पहले कांग्रेस के हुआ करते थे। मगर 2017 में भीमताल क्षेत्र से टिकट ना मिलने के बाद उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा भी और जीत भी लिया। इसके बाद से वह भाजपा के करीबी होते चले गए। राम सिंह कैड़ा को लेकर इस तरह की चर्चाएं पहले से थी। गौरतलब है कि भाजपा के सभी आयोजनों में मंच पर पहुंचना, सीएम से लेकर कैबिनेट मंत्रियों का करीबी होना।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

ये पहले से ही तय था की राम सिंह कैड़ा जल्द ही भाजपा ज्वाइन करेंगे।मगर 2022 विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राम सिंह कैड़ा का भाजपा में शामिल होना विरोधी दलों की मुश्किलें बढ़ाएगा। साथ ही भाजपा और भी मजबूत हो जाएगी। बता दें कि धनोल्टी विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार भाजपा ज्वाइन कर चुके हैं। रविवार को कांग्रेस के पुरोला से विधायक राजकुमार भी भाजपा के हो गए हैं।

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

राम सिंह कैड़ा हल्द्वानी एमबीपीजी कॉलेज में वर्ष 1992 में छात्रसंघ अध्यक्ष, 1994 में छात्रसंघ सचिव, 1999-2000 के मध्य छात्रसंघ अध्यक्ष और 2001 में छात्र महासंघ अध्यक्ष रह चुके हैं। इसके बाद वह साल 2003 में नाई-ढोलीगांव से जिला पंचायत सदस्य और 2008 में भुमका से क्षेत्र पंचायत सदस्य रहे। गौरतलब है कि विधायक राम सिंह कैड़ा की पूर्व मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और केंद्रीय राज्य मंत्री और सांसद अजय भट्ट से नजदीकियां रही हैं।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page