Connect with us

पहली बार पिथौरागढ़ पहुंचे सीडीएस अनिल चौहान

उत्तराखण्ड

पहली बार पिथौरागढ़ पहुंचे सीडीएस अनिल चौहान

पिथौरागढ़– सीडीएस (चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ) अनिल चौहान शुक्रवार को अचानक पिथौरागढ़ पहुंचे। एयरपोर्ट पर सैन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। सीडीएस के दौरे की जानकारी केवल प्रशासन के आला अधिकारियों को ही दी गई थी।

सीडीएस बनने के बाद पहली बार पिथौरागढ़ से लगी चीन सीमा का जायजा लेने चौहान पहुंचे हैं। चीन पर दिए हुए उनके हालिया बयान को देखते हुए इस दौरे को बेहद अहम माना जा रहा है। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार शुक्रवार दोपहर सीडीएस नैनीसैनी हवाई अड्डे पहुंचे। यहां से सेना के अधिकारियों के साथ ब्रिगेड

यह भी पढ़ें -  बढ़ेगा प्रशासकों का कार्यकाल,अक्टूबर में होंगे नगर निकाय चुनाव ?

सामरिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है पिथौरागढ़

पिथौरागढ़ जिला चीन और नेपाल सीमा से लगा है। चीन सीमावर्ती क्षेत्रों में तेजी से विकास कार्य कर रहा है और बड़ी संख्या में सेना की तैनाती भी बढ़ाई है। इसे देखते हुए भारतीय सुरक्षा बल भी अलर्ट हैं। और बर्फबारी और तमाम विपरीत हालात होने पर भी 24 घंटे सीमा पर मुस्तैद हैं। ऐसे में सीडीएस का सीमांत जिले का दौरा सामरिक लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें -  भारत-नेपाल अन्तर्राष्ट्रीय बॉर्डर चैक पोस्ट का डीआईजी कुमांऊ ने किया निरीक्षण।

प्रशासन के आला अधिकारियों को ही सेना की ओर से दी गई जानकारी इसके बाद प्रशासनिक अमला नैनी सैनी हवाई पट्टी के लिए रवाना हुए। सीडीओ वरुण चौधरी, अपर जिलाधिकारी फिंचाराम चौहान भी नैनीसैनी एयरपोर्ट पहुंचे।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

पिछले दिनों सीडीएस चौहान ने बॉर्डर टूरिज्म का कल्चर बढ़ाने पर जोर दिया था।सीमांत गांवों में घटती आबादी पर चिंता जाहिर की थीसीमांत क्षेत्रों में पर्यटन को बढ़ावा देने से सीमावर्ती इलाकों के फिर से आबाद होने की संभावना जताई थी।एडीएम चौहान ने बताया कि सीडीएस के दौरे की जानकारी क पत्र प्रशासन को मिला था।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page