Connect with us

कोविड कर्फ्यू से प्रभावित सार्वजनिक सेवायानों,चालको, परिचालकों,क्लीनरों को जारी हुई आर्थिक सहायता ,पिथौ0 में 1261 को मिलेगा लाभ।

उत्तराखण्ड

कोविड कर्फ्यू से प्रभावित सार्वजनिक सेवायानों,चालको, परिचालकों,क्लीनरों को जारी हुई आर्थिक सहायता ,पिथौ0 में 1261 को मिलेगा लाभ।

पिथौरागढ़– कोविड- 19 के कारण राज्य में पूर्व में लागू कोविड कर्फ्यू से प्रभावित सार्वजनिक सेवायानों,चालको, परिचालकों,क्लीनरों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। प्रत्येक को आगामी 6 माह तक प्रतिमाह 2 हजार की दर से सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में जमा जाएगा।
बुधवार को माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा देहरादून से योजना का शुभारम्भ किया गया।
इस अवसर पर जनपद पिथौरागढ़ में भी विकास भवन सभागार में एक कार्यक्रम आयोजित कर 10 लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित कर योजना का लाभ देते हुए उनके बैंक खाते में 2 हजार की राशि डीबीटी के माध्यम से उनके खाते में जमा की गई।
इस अवसर पर अध्यक्ष नगर पालिका राजेन्द्र रावत ने कहा कि चालक परिचालको को कोविड काल में जो आर्थिक नुकशान हुआ था उसकी भरपाई के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहयोग प्रदान किया जा रहा है उन्हें सरकार एक प्रोत्साहन राशि दे रही है। सरकार छोटे-छोटे व्यवसाइयों की मदद के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जनहित में अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिए जा रहे हैं। इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत दीपिका बोहरा ने कहा कि इस कोविड काल में टैक्सी संचालकों द्वारा अनेक आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा है सरकार इस परेशानी में उनके साथ है।


कार्यक्रम की मुख्य अतिथि विधायक पिथौरागढ़ श्रीमती चंद्रा पंत ने कहा कि कोविड काल में हर वर्ग को आर्थिक रूप से नुकशान हुआ है , उसमें टैक्सी संचालक भी एक हैं, इन्होंने कोविड काल में सामाजिक दाईत्व के रूप में बेहतर कार्य किया गया। सरकार उन्हें इस कोविड काल में हुए नुकशान पर यह आर्थिक सहायता कर रही है,आगे भी सरकार हर संभव मदद करेगी।

यह भी पढ़ें -  तन, मन और आत्मा का संगम 'योग है' - मुख्यमंत्री धामी


इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान द्वारा सभी आगन्तुकों का स्वागत करते हुए योजना के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने अवगत कराया कि जनपद पिथौरागढ़ में इस योजना में कुल 1891 व्यक्तियों द्वारा आवेदन प्रस्तुत किए गए थे जिसमें से 1261 को स्वीकृति प्रदान की गई है। 150 की जांच,6 लंबित व 478 को निरस्त किया गया है। सभी पात्र लाभार्थियों के खाते में धनराशि डीबीटी के माध्यम से जमा की जाएगी।
इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष जिला पंचायत वीरेंद्र बोहरा, कर अधिकारी परिवहन विभाग मुकुल अग्रवाल, गोकुल देउपा,राजेश कुमार,सुदर्शन कुमार,शिव कुमार महेंद्र सिंह,दिलीप सिंह, टैक्सी यूनियन से रवीद्र सिंह बिष्ट,गणेश जग थापा,चंदू लुंठी समेत योजना के लाभार्थी आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कोषाधिकारी हरिकृष्णा द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page