Connect with us

सिविल सेवा परीक्षा में 933 अभ्यर्थी सफल, शीर्ष चार पर महिलाएं, इशिता किशोर ने किया टॉप , उत्तराखंड के कुमाऊं की दो बेटी गरिमा व कल्पना भी चयनित

उत्तराखण्ड

सिविल सेवा परीक्षा में 933 अभ्यर्थी सफल, शीर्ष चार पर महिलाएं, इशिता किशोर ने किया टॉप , उत्तराखंड के कुमाऊं की दो बेटी गरिमा व कल्पना भी चयनित

नयी दिल्ली– संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा मंगलवार को घोषित सिविल सेवा परीक्षा 2022 के नतीजों में दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से स्नातक इशिता किशोर के पहला स्थान हासिल करने के साथ ही शीर्ष चार स्थानों पर महिलाओं ने सफलता हासिल की है।.

घोषित परिणामों के अनुसार गरिमा लोहिया, उमा हरति एन और स्मृति मिश्रा ने परीक्षा में क्रमशः दूसरा, तीसरा और चौथा स्थान हासिल किया है। लोहिया और मिश्रा डीयू से स्नातक हैं, जबकि हरति एन. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)-हैदराबाद से बी.टेक डिग्री धारक हैं।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड उच्च न्यायालय स्थानांतरण कुमाऊं-गढ़वाल का विषय न बने।

उत्तराखंड के कुमाऊँ अंचल मे रुद्रपुर की रहने वाली गरिमा नरूला और बागेश्वर की रहने वाली आईएएस बनी हैं, गरिमा ने यूपीएससी में 39 वां स्थान हासिल किया है, जबकि कल्पना पांडे ने 102 रैंक हासिल की है, गरिमा नरूला ने पहले ही प्रयास में यूपीएससी मे सफलता हासिल की, कल्पना की इस उपलब्धि से पूरे गांव में खुशी की लहर है, कल्पना के पिता गरुड़ बाजार में एक दुकान संचालित करते हैं, जबकि गरिमा के पिता एक व्यापारी और उनकी मां गृहणी है, दोनों बेटियों की इस उपलब्धि पर उत्तराखंड में खुशी का माहौल है,

Continue Reading

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page